Takneeki Guru

वेब होस्टिंग क्या है ?

Rate this post

किसी भी वेबसाइट को इंटरनेट पर लाने के लिए जरूरत होती है एक होस्टिंग की. अगर आप वेबसाइट बनाने की सोच रहे हैं तो आपको ये जानना बहुत जरूरी है कि वेब होस्टिंग क्या है ? वेब सर्वर क्या है ?, दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि वेब होस्टिंग क्या है ? वेब होस्टिंग के प्रकार, वेब होस्टिंग कैसे काम करती है ? और इसके Features क्या क्या हैं? और साथ में हम ये भी जानेंगे कि आपको अपनी वेबसाइट के लिए एक अच्छी होस्टिंग कहाँ से लें.

वेब होस्टिंग क्या है?

दोस्तों अगर आसान भाषा में जानें कि वेब होस्टिंग क्या है ? तो वेब होस्टिंग एक Service होती है जहाँ पर हम अपनी वेबसाइट के Data यानि Photos, Videos, Text आदि बहुत सारा Content स्टोर होता है  जहाँ से हमारी वेबसाइट इंटरनेट पर लाइव हो पाती है। जब हम कोई वेबसाइट बनाते है तो हम वहां पर विभिन्न प्रकार का Content होता है जैसे Text, Photos, Videos अब इन सब को इंटरनेट पर २४ घंटे Available रखने के लिए हम उसको एक ऐसे जगह पर रखते हैं जहाँ पर वो सिस्टम या वो कंप्यूटर 24 घंटे ऑन रहे।

जिससे कि कोई भी व्यक्ति अगर हमारी वेबसाइट पर Visit करे तो उसको वहां पर उपलब्ध सभी जानकारी आसानी से मिल सके. तो इन सब चीजों के लिए हमें एक सर्वर की जरूरत पड़ती है। 

वेब सर्वर क्या हेता है ?

आखिर सर्वर किसे कहते हैं? सर्वर एक तरह का कंप्यूटर होता है जो दूसरे Computers और Users को सेवा प्रदान करता है. यह एक Computer हो सकता है या एक computer program हो सकता है जिसे computer में load किया जाता है ताकि वो दुसरे computers को data और information भेज सके.

सर्वर का काम है Internet के users को सेवा प्रदान करना यानि की users को वो सभी जानकारी देना जो वो जानना चाहता है. जैसे हम YouTube में videos देखते हैं या फिर कोई information हम अपने device के ब्राउज़र में जाकर search करते हैं तो हमे जो भी results अपने device पर देखने को मिलता है वो website या channel का data कहीं ना कहीं पर store होता है जो server हमारे request भेजने पर हमें प्रदान करता है.तो दोस्तों इस तरह के सर्वर को हम व्यक्तिगत creat नहीं कर सकते. 

इनकी maintenance costs बहुत ज्यादा होती है. तो इसी problme के solution के लिए यहाँ पर आ जाती हैं विभिन्न प्रकार की कंपनियां जो इस प्रकार के servers को लगाती हैं और उनके रखरखाव का पूरा ध्यान रखती हैं और आपको काम दामों में होस्टिंग प्रदान करती है। यहां पर काम दामों में होस्टिंग इसलिए मिलती है क्योंकि हमारी ही तरह और भी बहुत सारे लोग यहां से अपनी वेबसाइट के लिए होस्टिंग buy करते हैं और ये servers 24 घंटे इंटरनेट से connect रहते हैं। दोस्तों यहां पर आपको इनके होस्टिंग के अलग अलग monthly या yearly प्लान मिल जाते हैं। 

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है? (how many types of web hosting)

basically होस्टिंग 4 प्रकार की होती है.

  • Shared web Hosting
  • Virtual Private Server (VPS)
  • Dedicated Hosting
  • Cloud Web Hosting

1. Shared Web Hosting

  1. shared web hosting में एक सर्वर को बहुत सारे लोगों में share किया जाता है मतलब की एक सर्वर में बहुत सारी websites के डेटा को स्टोर किया जाता है।
  2. इसमें बहुत सारी websites एक ही सर्वर पर host होती है और वह सर्वर अपनी CPU, Storage, Ram और भी अन्य resources को सभी Website में शेयर करता है।
  3. इस तरह की service beginners के लिए बहुत अच्छी होती है. क्योंकि उनकी वेबसाइट पर न तो ज़्यादा traffic आता है और शुरुआत में  सीखने के लिए भी अच्छा रहता है. यहाँ समस्या तब आती है जब वेबसाइट Popular हो जाती है और उसमे traffic बहुत ज़्यादा बढ़ जाती है.
  4. जब traffic बढ़ जायेगा तो सर्वर पर लोड बढ़ जाएगा और उसकी speed traffic  के अनुसार पर्याप्त नहीं होगी। जिससे की वेबसाइट की speed slow हो जाएगी और पेज लोड होने में बहुत ज्यादा समय लगाएगा.
  5. और इसके अलावा shared web hosting में जो दूसरी वेबसाइट होस्ट होती है उनकी भी speed धीमी हो जाती है.

2. Virtual Private Servers (VPS)

  1. VPS होस्टिंग का पूरा नाम (Virtual Private Servers) है. यह shared web hosting की तुलना में अधिक भरोसेमंद और विश्वसनीय है
  2. जिन वेबसाइट पर traffic अधिक होता है यह होस्टिंग उन वेबसाइट के लिए अच्छा होता है जिससे उनकी वेबसाइट की स्पीड में कोई कमी नहीं आती। दूसरे वेबसाइट के ट्रैफिक बढ़ने से उनकी वेबसाइट पर कोई effect नहीं पड़ता।  
  3. Virtual Private Severs एक बड़े बिल्डिंग के फ्लैट्स के जैसा ही है जहाँ एक flat का owner एक ही आदमी होता है और अकेले ही सारा rent pay करता है.
  4. उसके साथ पैसे भरने में कोई शेयर नहीं करता है और कोई दूसरा मालिक आकर उसमे नहीं रह सकता। इसमें बिल्डिंग तो एक ही लेकिन फ्लैट्स के रूप में ये कई हिस्सों में बांटा हुआ है जिसमे अलग अलग मालिक हैं.
  5. ठीक इसी तरह VPS में Virtualization तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है जिसमे Server के रूप में फिजिकल कंप्यूटर सिस्टम बस एक ही होता है लेकिन virtually कई हिसो में बांटा हुआ होता है.
  6. चूँकि इसमें सारी websites एक ही Physical Server में रहती हैं। लेकिन virtually अलग अलग divided space में स्टोर की हुई होती हैं। और दूसरे वेबसाइट के space का इस्तेमाल नहीं कर पाती हैं.
  7. यही कारण है की इस तरह की Web Hosting में ज़्यादा ट्रैफिक होने पर भी वेबसाइट की स्पीड mentain रहेगी धीमी नहीं होगी। और किसी भी तरह का कोई परेशानी नहीं होगी.
  8. कम खर्च में Dedicated सर्वर जैसी क्षमता अपनी वेबसाइट की performance के लिए चाहते हैं हैं तो VPS सर्वर बेस्ट है.

3. Dedicated Server Hosting

  1. Dedicated hosting में website के मालिक का server पर पूरा नियंत्रण रहता है। इसमें website के owner को खुद के तरीके से manage करने की flexibility प्रदान की जाती है.
  2. आपको इसके लिए थोड़ा ज्यादा खर्च उठाना पड़ता है अलग अलग सुविधा का इस्तेमाल करने लिए. Dedicated में जो सर्वर का प्रयोग किया जाता है वो बहुत fast होता है और काफी तेज़ गति से काम करता है.
  3. ये सिर्फ एक ही वेबसाइट के लिए होता है इसीलिए तो इसको Dedicated नाम दिया गया है. Dedicated में जो सर्वर होता है वो केवल एक ही वेबसाइट के सारे contents जैसे photos, videos, text, documents को store कर के रखता है.
  4. इस सर्वर में कोई Sharing नहीं होती और कोई दूसरी वेबसाइट का content नहीं होता है.
  5. इसीलिए इसकी speed भी काफी तेज़ होती है। इसमें sharing में कोई दूसरी वेबसाइट नहीं रहती है इसीलिए ये  थोड़ी महंगी होती है और सिर्फ एक ही आदमी को इसका सारा खर्च उठाना पड़ता है.
  6. जिस वेबसाइट में traffic बहुत ज़्यादा होती है और visitors बहुत आते हैं तो उनके लिए ये बहुत फायदेमंद होता है.
  7. इस तरह की service का इस्तेमाल ज़्यादातर e-commerce वाली वेबसाइट करते हैं. जैसे flipkart, Amazon , ebay , Snapdeal , और Transportation से जुड़े वेबसाइट.

Also, Read-How To Install Blogger Template

4. Cloud Web Hosting

  1. ये एक नया प्रकार की web hosting  हैं और ये काफी तेज़ी से मार्किट में फैलती जा रही है. ये बाकि होस्टिंग से performance और cost में थोड़ी अलग है.
  2. इसमें बहुत सारे servers एक साथ सिर्फ एक वेबसाइट के लिए काम करते हैं और best service देते है साथ ही ये वेबसाइट को secure भी करते हैं.
  3. जब बहुत सारे servers एक साथ मिलकर काम करते हैं तो इसी को cloud hosting कहते हैं. 
  4. इसमें high traffic वाले वेबसाइट को बहुत आसानी के साथ control किया जाता है और regularly अच्छी speed होती है वेबसाइट की बहुत ज़्यादा traffic होने पर भी.
  5. यदि cloud servers में कोई एक server busy हो या server में कोई समस्या है, तो आपकी website का traffic automatically किसी दूसरे server पर चला जाएगा।
  6. यही कारण है की Cloud hosting सबसे ज्यादा costly होती हैं. लेकिन अब ये काफी सस्ते प्लान के साथ आ चुकी है.अभी Digital Ocean और Vultr ने काफी सस्ते में cloud server की service शुरू की है.
  7. वो भी शुरूआती के 1 महीने आप free में इस्तेमाल कर के देख सकते हैं और इसकी performance भी check  कर सकते हैं कि आपकी वेबसाइट की स्पीड कितनी हैं.

दोस्तों आशा करता हूँ कि आपको इस लेख से काफी जानकारी मिली होगी । अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें । और अगर आप भी अपनी वेबसाइट या ब्लोग के लिये होस्टिंग खरीदना चाहते हैं तो क्लिक करें

Takneekiguru.com Is a Platform Where You Can Get All Kinds Of Information Related To Technology, Blogging, Online Services, Computer, Smartphone And Earn Money Online.

Leave a Comment