Takneeki Guru

Virtual Private Network क्या है और यह कैसे काम करता है ?

4/5 - (1 vote)

क्या आप ऑनलाइन security और privacy को लेकर के परेशान रहते हैं ? क्या आपको भी लगता है कि आपकी Personal जानकारियां hacker के हाथ लग जाएँगी और क्या आप भी आप भी Emails, Online Shopping और Bill Payment को Secure रखना चाहते हैं ? अगर हां तो आपको Vpn क्या है ? जानना होगा। ऐसा करना अब सम्भव है क्योंकि ऑनलाइन Privacy को Secure करने के लिए Virtual Private Network उपलब्ध है। जो आपकी बहुत हेल्प करेगा और आपको VPN के बारे में Details में सारी जानकारी भी मिल जाएगी तो इस आर्टिकल को Last तक जरूर पढ़ें।

Virtual Private Network क्या है – what is VPN ?

VPN का पूरा नाम Virtual Private Network होता है। Unsecured Wi Fi Network पर Web Browsing करना, Shopping करना या फिर transaction करने का मतलब है आपकी व्यक्तिगत जानकारी और Browsing Habits को expose कर देना। वैसे सोचने में ही इतना खतरनाक लगता है। लेकिन VPN यानी virtual private network public networks उपयोग करते समय आपको protected network connection उपलब्ध कराता है। ये आपके Internet Traffic को Encrypt करता है और आपके ऑनलाइन identity को Hide कर देता है। ऐसे में third parties के लिए आपकी ऑनलाइन Activities को Track करना और आपका Data चुराना मुश्किल हो जाएगा।

Bluetooth क्या है, यह कैसे काम करता है ?

VPN आपके PC Smartphone को Server कंप्यूटर पर कनेक्ट करता है और आप उस कंप्यूटर के इंटरनेट Connection का उपयोग करके Internet पर ब्राउज़ कर सकते हैं। VPN legal होते हैं और इनका उपयोग पूरी दुनिया में Individuals भी करते हैं, और कंपनीज भी करती हैं ताकि अपने डाटा को hacker से बचाया जा सके। Virtual Private Network के बारे में इतना जान लेने के बाद यह तो समझ में आ ही गया होगा कि Public Network पर अपनी ऑनलाइन security के लिए Virtual Private Network का उपयोग किया जा सकता है।

VPN काम कैसे करता है ?

जब आप एक Secure VPN Server पर Connect होंगे तो आपका इंटरनेट Traffic एक Encrypted tunnel से गुजरता है जिसे कोई नहीं देख सकता यानी ना तो hacker ना Government और ना ही आपका इंटरनेट service provider यानी आपके Data को Read नहीं किया जा सकता है Virtual Private Network कैसे काम करता है यह समझने के लिए दो Situation देखते हैं । पहली Virtual Private Network के बिना और दूसरी Virtual Private Network के साथ।

Without VPN

जब हम बिना VPN के वेबसाइट का Access लेते हैं तो उस इंटरनेट service provider ISP के जरिए Site पर Connect कर पाते हैं ISP हमें एक Unique IP Address देता है । लेकिन क्योंकि ISP ही हमारा पूरा Traffic Direct और Handle करता है वह उन वेबसाइट का पता लगा सकता है जिन पर हम Visit करते हैं तो ऐसे में हमारी Privacy Secure कहां हुई ।

With VPN

जब हम VPN के साथ इंटरनेट से Connect होते हैं तो हमारी Device पर जो Virtual Private Network App होता है उसे VPN client भी कहा जाता है और वह Virtual Private Network Server से सुरक्षित कनेक्शन स्थापित करता है। हमारा Traffic अभी भी ISP के माध्यम से पास होता है लेकिन ISP इस Traffic की final destination नहीं देख पाता और जिन वेबसाइ्स पर हम Visit करते हैं वह हमारा original IP address नहीं देख पाता ।

VPN की जरूरत क्यों पड़ी ?

Virtual Private Network को सबसे पहले 1996 में माइक्रोसॉफ्ट ने Develop किया था ताकि Remote Employees यानी कि ऐसे Employees जो उस office में बैठकर काम नहीं करते बल्कि उसके बाहर रहते हुए कहीं से भी काम करते हो वह Employees कंपनी के इंटरनेट Network पर Secure Access ले सके। लेकिन जब ऐसा करने से कंपनी की productivity double हो गई तो बाकी companies भी VPN को Adopt करने लग गए ।

हमें VPN का यूज कब-कब करना चाहिए ?

इसका जवाब है अगर Privacy आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है तो आपको हर बार इंटरनेट से कनेक्ट करते समय Virtual Private Network का उपयोग करना ही चाहिए लेकिन फिर भी कुछ Situation ऐसी भी होती है जिनमें आपको जरूर से Virtual Private Network का Use करना ही चाहिए जैसे- streaming के दौरान, Shopping के दौरान, public wi fi का उपयोग करते समय और Game खेलते समय । VPN कैसे Work करता है और इसे कब Use में लेना चाहिए यह जानना Interesting था । लेकिन अब आगे यह जानते हैं कि क्या VPN के different types भी होते हैं।

VPN के प्रकार

  1. Remote Access VPN
  2. Site To Site VPN

Remote Access VPN के जरिए Users दूसरे नेटवर्क पर एक Private Encryption Tunnel के जरिए Connect हो पाते हैं। इसके जरिए कंपनी के इंटरनेट Server या पब्लिक इंटरनेट से कनेक्ट हुआ जा सकता है।

Virtual Private Network

Site to Site VPN को router to router VPN भी कहा जाता है। इस टाइप का उपयोग ज्यादातर corporate environment में किया जाता है। खासकर जब एक Enterprise के कई अलग-अलग जगह पर Headquarters होते हैं ऐसे में Site to Site VPN ऐसा Close Internal नेटवर्क बना देता है जहां पर सभी Locations एक साथ कनेक्ट हो सके इसे intranet कहा जाता है।

Virtual Private Network

VPN के फायदे एवं नुकसान

Virtual Private Network से होने वाले फायदों को एक साथ देखे तो इसके Use से आपकी browsing history, IP Address, Location, Web Activity Hide हो जाती है। लेकिन Benefits के साथ इसके कुछ Disadvantages भी है जैसे कि Slow Speed, no cookies protection, और not total privacy इतना सुरक्षित होने के बावजूद भी VPN को पूरी तरह से Privacy Provider नहीं कहा जा सकता क्योंकि यह hacker, government और ISP से Data को Hide कर सकता है, लेकिन खुद Virtual Private Network provider चाहे तो आपकी जानकारी देख सकते हैं। तो ऐसे में एक विश्वसनीय Virtual Private Network Provider से ही Service लेना बेहतर होता है। एक सही Virtual Private Network provider का पता आपको इन Points के जरिए लग जाएगा।

  • VPN Efficient Speed ऑफर करें.
  • आपकी Privacy Secure रहे.
  • Provider Latest Protocol का उपयोग करें.
  • उसकी Reputation अच्छी हो.
  • उसकी Data Limit आपकी जरूरत से Match करती हो.
  • Server की लोकेशन आपको पता हो.
  • आप Multiple Devices पर Access ले सकते हो.
  • cost suitable हो.
  • Highest encryption उपलब्ध हो.
  • Best Customer Support Provide किया जाए.
  • free trail उपलब्ध हो.
  • Ads Block करने की सुविधा उपलब्ध कराई जाए.

Question- VPN को किसी भी Device से कनेक्ट किया जा सकता है या नहीं ?

जी हां ऐसे सभी Devices जो इंटरनेट से कनेक्ट हो सकती है उनमें Virtual Private Network का Use किया जा सकता है और ज्यादातर VPN Provider Multiple Platforms पर यह Service दिया करते हैं, जैसे laptop, Tablet, Smartphones, Voice Assistant, Smart Appliances और Smart TV पर। बहुत से Top Provider VPN का Free version भी उपलब्ध कराती है लेकिन free versions के कुछ Limitations हो सकती है, जैसे कि data limit जबकि कुछ VPN provider Paid version का free trail उपलब्ध कराते हैं ऐसे में Virtual Private Network लेते समय बजट देखा जाना तो obvious सी बात है लेकिन इतना जरूर ध्यान रखना चाहिए कि वह VPN Basic Features तो जरूर उपलब्ध कराता हो।

Takneekiguru.com Is a Platform Where You Can Get All Kinds Of Information Related To Technology, Blogging, Online Services, Computer, Smartphone And Earn Money Online.

Leave a Comment